मुख्यमंत्री राजश्री योजना -अब 50,000 की राशि हर बेटी को

राजश्री योजना ,मुख्यमंत्री राजश्री योजना ,राजस्थान मुख्यमंत्री राजश्री योजना ,rajasthan mukhymantri rajshri yojna ,rajshri yojna ,mukhymantri rajshri yojna in hindi | भारत जैसे देश में जहाँ बेटियों को एक अभिशाप ,एक बोझ समझा जाता है |उनको सिर्फ इसलिए पैदा होते ही मार दिया जाता है|क्युकी माँ बाप को लगता है की वो किसी काम की नहीं बल्कि उनके बड़े होने पर उनकी शादी पर दहेज का खर्चा ही करना पड़ेगा |जब की अगर बेटा होता है तो खुशियाँ मनाई जाती है क्युकी माँ बाप को लगता है की बेटा कमा कर लाएगा,उनका वंश बढ़ाऐगा|

भारत में लिंग अनुपात की बात की जाए तो राजस्थान 21 वे स्थान पर आता है और यहाँ का लिंगानुपात 2011की जनगणना के अनुसार 928 है |ऐसे में राजस्थान सरकार ने बेटियों के बारे में सोचा और उनकी मृत्यु दर को कम करने और उनके विकास और भविष्य के लिए बहुत सी योजनाए शुरू की |जिस में बेटियों के पैदा होने पर आर्थिक सहायता सरकार की तरफ से दी जाएगी |सरकार चाहती है की लोगो की सोच बदले और वो बेटो की तरह ही बेटियों के जन्म पर भी दुखी होने के बजाए खुश हो और उनके विकास ,शिक्षा आदि का पूरा ध्यान रखे और हर क्षेत्र में अपनी बेटियों को आगे बढ़ाए| राजस्थान सरकार ने बेटियों के लिए राजश्री योजना शुरू की है | जो की एक बहुत ही अच्छी योजना है | इस योजना के बारे में विस्तार से जानने के लिए पूरा लेख पढ़िए|

राजश्री योजना क्या है ?

mukhymantri rajshri yojna

राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुन्द्रा राजे ने राज्य में बालिकाओ के प्रति समाज में सकारात्मक सोच बढ़ाने ,उनके स्वास्थ्य और शैक्षिक स्तर को सुधारने के लिए राजश्री योजना की घोषणा 2016-17 के बजट सत्र में की |इस योजना में बेटी के जन्म से लेकर उसके 12वी कक्षा में आने तक सरकार 50,000 रु की आर्थिक सहायता उसके अभिभावकों को देगी |यह राशि सरकार एक मुश्त न देकर कई किश्तों  में देगी |

मुख्यमंत्री ‪शुभलक्ष्मी ‎योजना का नाम बदलकर मुख्यमंत्री ‪‎राजश्री योजना हो गया है। इस योजना में मिलने वाली राशि भी 7400 रुपए से बढ़कर 50 हजार रुपए होगी। शुभलक्ष्मी योजना में सरकार सरकारी अस्पतालों में जन्म लेने वाली बेटी को 2100 रुपए की आर्थिक सहायता देती थी | योजना के तहत समय-समय पर मां-बेटी को 7400 रुपए तक की आर्थिक सहायता देने का भी प्रावधान था। शुभलक्ष्मी योजना 1 अप्रैल 2013 से संचालित थी |मुख्यमंत्री श्रीमती वसुंधरा राजे जी ने शुभलक्ष्मी योजना का नाम बदलने के साथ-साथ आर्थिक सहायता राशि भी 50 हजार रुपए कर दी है एवं इसका लाभ 1 जून से जन्म 2016 के बाद जन्म लेने वाली बेटियों को मिलेगा। यह राशि 12वीं तक पढ़ाई पूरी करने तक मिलेगी।

राजश्री योजना एक नजर में —–

योजना का नाम मुख्यमंत्री राजश्री योजना
किस योजना का नाम बदल कर राजश्री योजना किया गया ? मुख्यमंत्री ‪शुभलक्ष्मी ‎योजना
किसने शुरू की ? वसुंधरा राजे ने
योजना को कब से लागू किया गया ? 1 जून 2016
योजना का उदेश्य क्या है ? बेटियों के लिए समाज में सकारात्मक सोच विकसित करना |लिंग भेद खत्म करना |लिंगानुपात बढ़ाना
कितनी राशि दी जाएगी? 50,000 रु
सहायता राशि किसे मिलेगी ? केवल कन्या जन्म पर अभिभावक को
कितनी किश्तों में मिलेगी राशि ? 6 किश्तों में
किश्ते कितनी कितनी होगी ? 1.     पहले किस्त: जन्म के समय 2500 रुपये

2.     दूसरी किस्त: एक वर्ष का टीकाकरण पर 2500 रुपये

3.     तीसरी किस्त: स्कूल में प्रवेश पर 4000 रुपये

4.     चौथी किस्त: कक्षा 6 में प्रवेश पर 5000 रुपये

5.     पांचवीं किस्त: कक्षा 10 में प्रवेश पर 11000 रुपये

6.     छठी किस्त: कक्षा 12 उत्तीर्ण करने पर 25000 रुपये

 

कौन से दस्तावेज  सब से आवश्यक है ? भामाशाह कार्ड

rajshri yojna

राजश्री योजना का मुख्य उदेश्य क्या है ?

वसुन्द्रा राजे सरकार ने यह योजना बेटियों को आगे बढ़ाने के लिए बनाई है |इस योजना के  मुख्य उदेश्यइस प्रकार है :–

  • बेटियों के जन्म को लेकर समाज में एक सकारात्मक सोच विकसित करना |
  • उनका सही से लालन पालन हो और उनकी शिक्षा और सम्पूर्ण विकास का स्तर सुधरे|
  • बेटे और बेटियों के बीच समाज में लिंग भेद खत्म करना |
  • मातृ मृत्यु दर को कम करना |
  • कन्या भ्रूण हत्या को रोकना |जिस से राज्य का लिंगानुपात सुधरे |
  • बेटियों को भी विद्यालय(स्कूल) भेजने के लिए अभिभावक प्रोत्साहित हो |
  • बेटियों को न केवल स्कूल भेजे बल्कि कम से कम 12 वी तक की शिक्षा जरुर मिले |

प्रधानमंत्री आवास योजना

प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना

राजश्री योजना कब शुरू हुई ?

बेटियों के जन्म को प्रोत्साहित करने, उन्हें शिक्षित व सशक्त बनाने के लिए सरकार ने 1 जून 2016 से मुख्यमंत्री राजश्री योजना राज्य में शुरू की है|

राजश्री योजना के लिए पात्रता क्या है ?

1)यह योजना केवल कन्या के जन्म के लिए ही है |लड़को के जन्म होने पर कुछ नही मिलेगा |

2) केवल उन्ही बालिकाओ को लाभ मिलेगा जिनका जन्म 1 जून 2016 के बाद हुआ है |

3) कन्या /बेटी का जन्म यानि माता का प्रसव राजस्थान राज्य के किसी सरकारी अस्पताल में हुआ हो या फिर  जननी सुरक्षा योजना (जे.एस.वाई.) से रजिस्टर्ड निजी चिकित्सा संस्थानों में हुआ हो|

4) यदि माँ का प्रसव राज्य से बाहर हुआ हो और वो राजस्थान की मूल निवासी है तो बच्ची के जन्म का प्रमाण पत्र मूल निवास वाले सरकारी अस्पताल में दिख कर इस योजना का लाभ ले सकते है |

5) इस योजना में मिलने वाली पहली और दूसरी किश्त की राशि तो सभी संस्थागत प्रसव से जन्म लेने वाली बालिकाओ को मिलेगा लेकिन बाकी की राशि या किश्त उन्ही अभिभावकों को मिलेगी जिनके अधिकतम 2 जीवित सन्तान हो |

6) योजना का पूरा लाभ तबी मिलेगा जब माता पिता के पास आधार कार्ड या भामाशाह कार्ड हो |वरना केवल दो किस्तों के बाद कोई राशि नही मिलेगी |

rajshri yojna

राजश्री योजना के लिए कौन कौन से दस्तावेज चाहिए ?

  1. आधार कार्ड
  2. भामाशाह कार्ड,यह कार्ड अनिवार्य रूप से होना चाहिए |
  3. आवासीय प्रमाण
  4. कन्या /बेटी का जन्म प्रमाण पत्र
  5. पासपोर्ट आकार के फोटो
  6. बैंक खाता विवरण | बैंक में खाता होने से राशि सीधे बैंक एकाउंट में ट्रान्सफर हो जाएगी |

क्या भामाशाह कार्ड जरूरी है ?

योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए लाभार्थी का भामाशाह कार्ड अनिवार्य है| 15 मई, 2017 के बाद लाभार्थी का भामाशाह कार्ड होने पर भुगतान सीधे उसके बैंक खाते में करने का प्रावधान है|महिलाएं गर्भावस्था के दौरान भी भामाशाह कार्ड बनवा सकती है| लाभ प्राप्त करने के लिए गर्भवती महिला को प्रसव पूर्व जांच/एएनसी जांच के दौरान भामाशाह कार्ड एवं भामाशाह कार्ड से जुड़ा हुआ बैंक खाते का विवरण निकटतम आंगनबाड़ी केन्द्र पर ए.एन.एम./आशा/आंगनबाड़ी कार्यकर्ता अथवा राजकीय चिकित्सा संस्थान में उपलब्ध करवाना होगा|

राजश्री योजना के तहत मिलने वाली राशि कितनी किश्तों में मिलेगी ?

मुख्यमंत्री राजश्री योजना के तहत राज्य सरकार भामाशाह योजना से जुड़े सभी परिवारों में 01 जून 2016 के बाद जन्म लेने वाली बालिकाओं को 6 किस्तों में 50000 रुपए की सहायता देगी। यह योजना केवल राजस्थान में रहने वाले नागरिको के लिए हैं।

  1. पहली किस्त: जन्म के समय 2500 रुपये
  2. दूसरी किस्त: एक वर्ष का टीकाकरण पर 2500 रुपये
  3. तीसरी किस्त: स्कूल में प्रवेश पर 4000 रुपये
  4. चौथी किस्त: कक्षा 6 में प्रवेश पर 5000 रुपये
  5. पांचवीं किस्त: कक्षा 10 में प्रवेश पर 11000 रुपये
  6. छठी किस्त: कक्षा 12 उत्तीर्ण करने पर 25000 रुपये

नोट: बाकी चार किश्ते बेटी को किसी राजकीय विधालय में प्रवेश पर ही मिलेगी|

इस योजना के अंतर्गत पहली दो किस्तों को चिकित्सा एवं स्वास्थ्य परिवार कल्याण विभाग और जननी सुरक्षा योजना द्वारा किया जाएगा |इसके बाद की 4 किस्तों का भुगतान निदेशालय महिला अधिकारिता विभाग द्वारा किया जाएगा |

राजश्री योजना के लिए आवेदन कैसे करे ?

  1. सरकारी अस्पतालों से संपर्क करना होगा।
  2. राजस्थान में जिला/ तालुका से संबंधित स्वास्थ्य अधिकारी से संपर्क करना होगा।
  3. कलेक्टर कार्यालय, जिला परिषद, ग्राम पंचायत, स्वास्थ्य अधिकारी या शिक्षा अधिकारी से संपर्क करना होगा।

राजश्री योजना के बारे अधिक जानकारी कहाँ से ले ?

इस योजना के बारे में और अधिक जानने के लिए निन्मलिखित ऑफिसियल साईट पर click  करे |

 

निष्कर्ष :—-

राजश्री योजना ,मुख्यमंत्री राजश्री योजना ,राजस्थान मुख्यमंत्री राजश्री योजना ,rajasthan mukhymantri rajshri yojna ,rajshri yojna ,mukhymantri rajshri yojna in hindi | राजस्थान सरकार द्वारा चलाई जा रही एक अच्छी योजना है |इस योजना से लोग बेटियों के जन्म के लिए प्रोत्साहित होंगे |50,000 की आर्थिक सहायता से कम से कम अब बेटियां 12 वी तक की शिक्षा तो किसी भी राजकीय विद्यालय से ले पाएगी |अगर आपके आस पास कोई गरीब परिवार में बच्चे का जन्म होने वाला हो तो आप उस परिवार को प्रसव सरकारी अस्पताल में करने को कहे और इस योजना के बारे में बताए |आपको ये जानकारी  कैसी लगी कमेंट बॉक्स में कमेंट कर के जरुर बताए |

मेक इन इंडिया(make in india ) क्या है ?

आयुष्मान भारत योजना क्या है?

 

7 Comments on “मुख्यमंत्री राजश्री योजना -अब 50,000 की राशि हर बेटी को”

  1. cm saab mere bati himanshi kumari 14.4.2016 kojanam liya tha.mere wife ka treatment rajkia sarrkari hospital niwai may huva tha .aap ke dawar rajshree youja ka laab meri bati himanshi ko nahi milpaya tha kyoki meri waife poszion difficlte thi isley mere wife ki dilavary mene koi riskk na laker mahata gandhi me krwsi thi aap ze vinti hai ki mere bati ko rajshree youjana ka laab de

    1. rajkumar ji ,
      agr aapki beti ka srkaari asptaal me jnam hua hai ya phir janni surksha yojna ke teht registered private asptaal me hua hai tbhi aapko rajshri yojna ka labh milega wrna nhi

  2. Sir namaste meri Beti ka janm private hospital me huya hai eska Labh meri beti ko nahi Milena meri gudiha ke liye koi Yojana to hoji

    1. आप पता करे की क्या वो प्राइवेट अस्पताल जननी सुरक्षा योजना से रजिस्टर्ड है क्या ?अगर है तो आपको पूरा लाभ मिलेगा

    1. सरकारी अस्पतालों से संपर्क करना होगा।
      राजस्थान में जिला/ तालुका से संबंधित स्वास्थ्य अधिकारी से संपर्क करना होगा।
      कलेक्टर कार्यालय, जिला परिषद, ग्राम पंचायत, स्वास्थ्य अधिकारी या शिक्षा अधिकारी से संपर्क करना होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *