किसान विकास पत्र (kvp) क्या है ?इसकी ब्याज दर क्या है ?

किसान विकास पत्र (kvp)  छोटी छोटी योजनाओ को प्रोत्साहित करने  वाली एक दीर्घकालिक योजना है | यह केंद्रीय सरकार की एक बहुत ही लोकप्रिय योजना है |इसको शोर्ट में KVP कहते है |यह योजना किसानो को ध्यान में रख कर चालू की गई थी |इस योजना के पीछे ये लक्ष्य था की जो राशि इस योजना के तहत एकत्रित होगी उसको किसानो के विकास  के लिए  लगाया जाएगा| इसलिए इसका नाम किसान विकास पत्र रखा गया |यह योजना ऐसे निवेशको के लिए बहुत अच्छी है जो अपनी पूंजी को सुरक्षित जगह, निवेश करना चाहते है |

किसान विकास पत्र क्या है ?

kisaan vikas ptra (kvp)

यह पत्र   भारत सरकार के डाक विभाग , sbi  और उस से सम्बद्ध बैंक्स द्वारा जारी  किया जाता है |लेकिन  |इसमें न्यूनतम निवेश 1000 रुपये तक किया जा सकता है। केवीपी की मैच्योरिटी 115 महीने यानि 9 साल और 7 महीने की है। जो 2011 तक  100 महीने ( 8 साल 4 महीने ) थी |परिपक्वता और ब्याज की दर को इस तरह समायोजित किया गया है कि केवीपी में निवेश मैच्योरिटी पर दोगुना हो जाता है।

यह योजना 1988 में शुरू की गई थी |लेकिन 2011 में इसे बंद कर दिया गया था |मोदी सरकार ने इस लोकप्रिय योजना को   कुछ सुधारो के साथ 2014 में वापस से शुरू किया | 2011 तक ये केवल पोस्ट ऑफिस द्वारा ही जारी किये जाते थे लेकिन 2014 में वापस शुरू होने के बाद इसे अब बैंक्स द्वारा भी जारी किया जाने लगा है |

Kvp की ब्याज दर क्या है ?

इसकी ब्याज दर वर्तमान में ( मार्च,2018तक ) 7.5% है |समय समय पर ब्याज दरे बदलती रहती है | ब्याज दर और परिपक्वता को इस तरह से समायोजित किया जाता है की योजना के परिपक्व होने पर राशि दोगुनी हो जाती है |1988 में जब ये योजना शरू की गई थी तब इसकी ब्याज दर 8.2% से 8.4% थी पर अब इसमे गिरावट आई है |

Kvp के लिए योग्यता क्या है ?

  1. आवेदक भारत का नागरिक होना चाहिए |
  2. उसकी उम्र 18 साल से ज्यादा होनी चाहिए |
  3. नाबालिक की तरफ से कोई भी बालिक व्यक्ति आवेदन कर सकता है |
  4. दो व्यस्क व्यक्ति सयुंक्त रूप में भी ले सकते है |

कौन कौन से दस्तावेज चाहिए ?

इस प्रमाण पत्र को खरीदने के लिए निम्न दस्तावेज की जरूरत होती है  जो आवेदक को पोस्ट ऑफिस में जमा करने होगे —

  1. दो पासपोर्ट साइज़ फोटो
  2. पहचान पत्र के लिए वोटर id/आधार कार्ड/ड्राइविंग लाइसेंस/राशन कार्ड आदि
  3. अगर आवेदक 50,000 से ज्यादा की राशि निवेश करता है तो ऐसे में पैनकार्ड भी जरूरी होगा |अगर 10 लाख से ज्यादा निवेश है तो कमाई का ब्यौरा देना होगा |
  4. घर के पते के लिए बिजली /पानी/टेलीफोन का बिल

Kvp  कितने प्रकार के है ?

1) एकल धारक प्रमाण पत्र (Single Holder Type Certificate)—-यह प्रमाण पत्र किसी भी भारतीय व्यस्क व्यक्ति को जरी किया जा सकता है |या फिर किसी नाबालिक यानी किसी छोटे बच्चे के लिए कोई व्यस्क आवेदन कर पोस्ट ऑफिस से इसे ले सकता है |

2) संयुक्त A प्रकार प्रमाण पत्र (Joint A Type Certificate)— यह प्रमाण पत्र दो व्यस्क लोगो को  सयुंक्त रूप में जारी किया जाता है |

3) संयुक्त बी टाइप सर्टिफिकेट(Joint B Type Certificate) —- यह प्रमाण पत्र  भी दो व्यस्क लोगो को  सयुंक्त रूप में जारी किया जाता है| लेकिन किसी एक की मृत्यु होने पर दूसरा इसका लाभ ले सकता है |

 निवेश राशि की सीमा कितनी  है ?

किसान विकास  पत्र   1000 ,   5000,   10,000    ,  और   50,000 के   वर्गो में जारी  किये जाते है |निवेश की न्यूनतम राशि 1000 रु है |लेकिन अधिकतम राशि की सीमा तय नही है |जितनी राशि का निवेश करना होता है उतने के यह  किसान विकास पत्र लेने होते है |जैसे अगर आप 10,000 का निवेश करते है तो 1000 के  दस पत्र ले सकते है या 5000 के दो पत्र ले सकते हो या फिर 10,000 का एक पत्र ले सकते है |पहले जो केवीपी आते थे 2011 तक उसमे 100 और 500 के भी आते थे लेकिन 2014 से जब ये योजना वापस शुरू हुई तो 100 और 500 के केवीपी को बंद कर दिया गया| और 50,000 का पत्र शामिल किया गया |

किसान  विकास पत्र को अब इलेक्ट्रॉनिक रूप में जारी किया जाएगा। सरकार ने पहले से छपे कागजी दस्तावेज व्यवस्था को समाप्त करने का निर्णय किया है. वित्त मंत्रालय ने कहा कि किसान विकास पत्र तथा एनएससी के संदर्भ में पहले से प्रकाशित प्रमाणपत्र की मौजूदा व्यवस्था एक अप्रैल 2016 से समाप्त हो गई है और उसकी जगह राष्ट्रीय बचत पत्र (एनएससी) और किसान विकास पत्र का प्रमाणपत्र इलेक्ट्रॉनिक रूप से जारी किया जाएगा।  

राशि को बैंक /पोस्ट ऑफिस में कैसे जमा करे ?

किसान विकास पत्र खरीदने के लिए राशि निम्न प्रकार से बैंक्स ये डाक घरो में जमा कराई जा सकती है :—-

  • चेक द्वारा ,
  • डिमांड ड्राफ्ट द्वारा ,
  • बचत खाते से withdral का फॉर्म भर के ,
  • नकद राशि  द्वारा

सुकन्या समृद्धि योजना

PMEGP योजना के लिए apply कैसे करे

Kvp  लाभ क्या है ?

1). यह 1000,5000,10,000 और 50,000 में उपलब्ध है |

2). यह एक सरकारी योजना है इसलिए इसमे निवेश की गई राशि सुरक्षित है और return मिलने की गारंटी है |

3). इसमे लगने वाली ब्याज दर इसको खरीदने के वक्त जितनी होती है पत्र के परिपक्वता होने तक उतनी ही रहेगी | मतलब ब्याज दर हमेशा बदलती रहती है |वर्तमान में ब्याज  दर 7.5% है तो अगर आप इसे अभी लेते है तो इसके परिपक्व होने तक यह ब्याज दर फिक्स रहेगी चाहे  दर कम क्यों न हो जाए |

4) इस में 115 महीने में राशि दोगुनी हो जाती है |

5) . kvp को किसी और डाक घर में भी transfer किया जा सकता है |

6). इस में नॉमिनेशन की सुविधा भी है | आवेदक अपने किसी रिलेटिव का नाम नॉमिनी के तौर पर डाल सकता है |

7). kvp में निवेश risk फ्री है और return की पूरी गारंटी है |

8) kvp में से अपनी राशि वापस ले सकते है लेकिन लॉक इन अवधि 2 साल और 6 महीने है यानी केवीपी खरीदने के ढाई साल बाद आप चाहे तो अपनी राशि निकाल सकते है ऐसे में हो सकता है आपके ब्याज में कुछ कटोती हो जाए |

9) kvp पर लोन ले सकते है |

Kvp को कैसे खरीदे ?

किसान विकास पत्र प्रमाण पत्र खरीदने के लिए, आवेदन पत्र भरना और जरूरी जानकारी प्रस्तुत करना आवश्यक है। आवश्यक जानकारी  पहचान पर्ची में प्रदान की जानी चाहिए। आवेदन पत्र में, आपको निम्नलिखित विवरणों का उल्लेख करना होगा।

  1. वह राशि जिसके लिए केवीपी प्रमाण पत्र खरीदे जाने चाहिए।
  2. भुगतान की विधि नकद है या चेक |
  3. केवीपी प्रमाण पत्र का प्रकार, चाहे वह एकल या संयुक्त “ए” या संयुक्त “बी”
  4.  अगर केवीपी प्रकार एकल नहीं है,संयुक्त मालिकों का नाम
  5. नाबालिग के मामले में,नाबालिक की जन्म दिनांक
  6. आवेदक  व्यक्ति का पूरा पता और जन्मतिथि का नाम
  7. इस फॉर्म को निवेशक द्वारा विधिवत हस्ताक्षर किया जाना चाहिए, नामांकन के लिए तिथि, पता और गवाह के हस्ताक्षर भी स्लिप में निर्दिष्ट किए जाएंगे।

पहचान पर्ची में, केवीपी प्रमाण पत्र की सीरियल संख्या, जारी करने की कीमत, नकदी की तारीख, पोस्टमास्टर हस्ताक्षर और डुप्लिकेट इश्यू और हस्तांतरण जैसे टिप्पणी का उल्लेख किया जाएगा। केवीपी को की राशि लेने के लिए ,  पहचान पर्ची पेश करना पड़ेगी । इसलिए, केवीपी पहचान पर्ची और केवीपी फॉर्म में सही विवरण का उल्लेख करना अत्यंत महत्वपूर्ण है।

 

क्या परिपक्वता से पहले राशि निकाल सकते है ?

यदि आप परिपक्वता अवधि से पहले आप अपने मूल धन  को  निकालना चाहते हैं, तो ऐसा केवीपी खरीदने के  2 साल और 6 महीने के बाद कर सकते हैं।

किसान विकास पत्र  निम्नलिखित परिस्थितियों में अपनी परिपक्वता अवधि से पहले ही भुना सकते  है—

  • यदि न्यायालय द्वारा आदेश दिया गया हो ,
  • राजपत्रित अधिकारी द्वारा जब्ती द्वारा ,
  • सयुंक्त आवेदकों के मामले के किसी एक की मृत्यु हो जाने पर |

प्रधान मंत्री उज्ज्वला योजना

प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना

Kvp का हस्तांतरण कैसे करें?

किसान विकास  प्रमाण पत्र एक डाकघर से दूसरे या एक व्यक्ति से दूसरे को स्थानांतरित किया जा सकता है।

एक पोस्ट ऑफिस से दूसरे पोस्ट ऑफिस में स्थानांतरण
किसान विकास पत्र  एक पोस्ट ऑफिस से दुसरे पोस्ट ऑफिस में ट्रान्सफर किया जा सकता है, केवीपी प्रमाण पत्र को स्थानांतरित करने के लिए, निवेशक को संबंधित डाकघर में अधिकारी को एक हस्तलिखित सहमति प्रस्तुत करनी होगी।

एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति को स्थानांतरण
एक केवीपी प्रमाण पत्र को एक व्यक्ति से दूसरे  व्यक्ति को  स्थानांतरित किया जा सकता है और एक लिखित पत्र उसी के लिए डाकघर में जमा किया जाना चाहिए।

निम्नलिखित परिस्थिति में कार्यवाही समान होगी —

  • मृतक के नाम से अपने उत्तराधिकारी को स्थानांतरित करना
  • कंपनी की ओर से कर्मचारी से कर्मचारियों को स्थानांतरित करना ।
  • एक मालिक से संयुक्त मालिकों को transfer करना
  • संयुक्त मालिकों से किसी एक मालिक को

Kvp द्वारा लोन मिल सकता  है ?

जिनके पास केवीपी है वो इस पर लोन ले सकते है |केवीपी के खिलाफ ऋण लेने के लिए निम्नलिखित शर्तें हैं—-

  • ऋण आवेदक के पास अपने नाम के तहत किसान विकास पत्र होना चाहिए।
  • केवीपी के खिलाफ ऋण ,व्यापार या निजी प्रयोजनों के लिए केवल लाभ उठाया जा सकता है।
  • विभिन्न बैंकों के केवीपी के खिलाफ ऋण के लिए अलग-अलग शुल्क और ब्याज हैं।
  • ऋण केवीपी के कार्यकाल के भीतर चुकाया जाना चाहिए, जो 9साल और 7 महीने है।
  • केवीपी में किये गए  निवेश और परिपक्वता के आधार पर बैंक द्वारा मार्जिन और ऋण की राशि का निर्णय लिया जाएगा।

इसके खो जाने पर क्या करे ?

केवीपी के खो जाने या चोरी हो जाने पर  डुप्लिकेट केवीपी प्रमाण पत्र प्राप्त करने के लिए, आपको डुप्लिकेट प्रमाण पत्र का अनुरोध करने के लिए लिखित में देना होगा और साथ में  पहचान पर्ची को संलग्न करना होगा। पहचान पर्ची से  केवीपी के आपके स्वामित्व को साबित करेगी यदि आपने पहचान पर्ची खो दी , तो कृपया आगे के निर्देशों के लिए  डाक कार्यालय से संपर्क करें।

क्या टैक्स में कोई राहत मिलती है ?

यह  भ्रांति रहती है कि किसान विकास पत्र से कर छूट में फायदा मिलता है, लेकिन ऐसा बिल्कुल भी नहीं है। किसान विकास पत्र में किए गए निवेश पर आयकर की धारा 80 सी के अंतर्गत कर छूट का लाभ नहीं मिलता है।

किसान विकास पत्र का फॉर्म download करने के लिए click करे

किसान विकास पत्र के ब्याज दर और अधिक जानकारी के लिए click kre

निष्कर्ष :—

किसान विकास पत्र(kvp) योजना सरकार ने छोटी छोटी बचतों को प्रोत्साहित करने के लिए बनाई है |2014 में वापस से शुरू की गई इस योजना में कुछ बदलाव किये गए |सरकारी योजना के कारण इस में कोई धोखाधड़ी की गुंजाईश ही नही है |अगर आप अपने पैसो को एक दम  सुरक्षित जगह पर निवेश करना चाहते है तो केवीपी आपके लिए best इन्वेस्टमेंट का जरिया है |योजना को लेकर कोई भी प्रश्न हो तो आप कमेंट बॉक्स में कमेंट कर के पूछ सकते है |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *