बेनामी लेनदेन सूचनार्थियों पुरस्कार योजना-मिलेंगे एक करोड़ रु

नई बेनामी सम्पत्ति  लेनदेन सूचनार्थियों पुरस्कार योजना-2018 , New Benami Transactions Informants Reward Scheme – 2018  अगर आप बेनामी सम्पत्ति रखते है तो सावधान हो जाइए क्यों की अब मोदी सरकार ने ऐसे लोगो के खिलाफ एक बार फिर से सख्त कदम उठाया है |वित्त मंत्रालय ने ऐसे लोगो को पकड़ने के लिए नई योजना की शुरुवात की है जिसका नाम है नई बेनामी लेनदेन सूचनार्थियों पुरस्कार योजना |इस योजना के तहत बेनामी सम्पत्ति रखने वालो के खिलाफ जो भी व्यक्ति जानकारी टैक्स डिपार्टमेंट को देगा उसको सरकार एक करोड़ रु की राशि इनाम में देंगी |आप भी पा सकते है एक करोड़ रु जानिए इस योजना के बारे में की कैसे सुचना सरकार तक पहुंचानी होगी ?

बेनामी सम्पत्ति लेनदेन सूचनार्थियों पुरस्कार योजना क्या है ?

बेनामी सम्पत्ति लेनदेन सूचनार्थियों पुरस्कार योजना

आयकर विभाग ने  काले धन की खोज करने और कर चोरी को कम करने के प्रयासों में लोगों की भागीदारी के उद्देश्य से, “बेनामी सम्पत्ति लेनदेन सूचना पुरस्कार योजना, 2018″ नामक एक नई इनाम योजना जारी की गई है।यदि कोई व्यक्ति ऐसे लोगो के बारे में सरकार को सही जानकारी देता है तो उसको सरकार एक करोड़ रु की इनामी  राशि दी जाएगी |

विदेशी व्यक्ति भी इस तरह के इनाम के लिए पात्र होंगे। जानकारी देने वाले व्यक्तियों की पहचान का खुलासा नहीं किया जाएगा और सख्त गोपनीयता बनाए रखा जाएगा।

भारत में काले धन की बढ़ती समस्‍या को खत्‍म करने की दिशा में यह एक कदम है। इस इनाम योजना का लक्ष्य लोगों को बेनामी लेनदेन और संपत्तियों के साथ-साथ ऐसे छिपे निवेशकों और लाभकारी मालिकों द्वारा ऐसी  बेनामी संपत्तियों पर अर्जित आय के बारे में जानकारी देने के लिए प्रोत्साहित करना है।

कानून को मजबूत बनाने के लिए सरकार ने पहले बेनामी लेनदेन (निषेध) संशोधन अधिनियम, 2016 द्वारा बेनामी प्रॉपर्टी ट्रांजैक्शन एक्ट, 1988 में संशोधन किया था।

भारत के top 10 सब से अमीर आदमियों के बारे में जाने

plastic money क्या होती है जाने

बेनामी लेनदेन (निषेध )अधिनियम,1988 { Benami Transactions (Prohibition) Act,1988} क्या है ?

यह भारतीय संसद द्वारा पारित एक अधिनियम है जो बेनामी लेन देन का निषेध करता है |यह 1988 में पारित हुआ था |2016 में इस कानून का संशोधन किया गया

और 1 नवम्बर ,2016 को संशोधित कानून लागू किया गया | संशोधित बिल में बेनामी सम्पत्ति  को जब्‍त करने और उन्‍हें सील करने का अधिकार है। साथ ही, जुर्माने के साथ कैद का भी प्रावधान है।

मूल अधिनियम में बेनामी लेनदेन करने पर तीन साल की जेल और जुर्माना या दोनों का प्रावधान था।

संशोधित कानून के तहत सजा की अवधि बढ़ाकर सात साल कर दी गई है। जो लोग जानबूझकर गलत सूचना देते हैं उन पर सम्पत्ति के बाजार मूल्य का 10 प्रतिशत और 6 महीने से 5 साल तक की जेल का प्रावधान रखा गया है। नया कानून खासकर रियल एस्टेट सेक्टर में लगे काले धन की जांच के लिए लाया गया है। इसके तहत केंद्र सरकार के पास ऐसी सम्पत्ति को जब्त करने का भी अधिकार है।

नए कानून के अन्तर्गत बेनामी लेनदेन करने वाले को  7 साल की जेल और उस सम्पत्ति की बाजार कीमत पर 25% जुर्माने का प्रावधान है।

बेनामी सम्पत्ति क्या होती है ?

वह संपत्ति जो पत्नी, बच्चों या किसी रिश्तेदार के नाम पर खरीदी गई होती है।लेकिन कीमत किसी और ने चुकाई होती है ,और ऐसी सम्पत्ति में लगाए पैसो के स्रोत के बारे में कोई जानकारी नही दी जाती है ,ऐसी सम्पत्ति बेनामी सम्पत्ति कहलाती है | जिसके नाम पर ऐसी संपत्त‍ि खरीदी गई होती है, उसे ‘बेनामदार’ कहा जाता है। कुछ लोग अपने काले धन को ऐसी संपत्ति में निवेश करते हैं जो खुद के नाम पर ना होकर अपने नौकर, पत्नी-बच्चों, मित्रों या परिवार के अन्य सदस्यों के नामहोती है |

आमतौर पर ऐसे लोग बेनामी संपत्त‍ि रखते हैं जिनकी आमदनी का वर्तमान स्रोत स्वामित्व वाली संपत्त‍ि खरीदने के लिहाज से कम होता है।

अगर किसी ने अपने बच्चों या पत्नी के नाम संपत्ति खरीदी है लेकिन उसे अपने आयकर रिटर्न में नहीं दिखाया तो उसे बेनामी संपत्ति माना जायेगा।

अगर सरकार को किसी सम्पत्ति पर शक होता है तो वो उस संपत्ति के मालिक को नोटिस भेजकर प्रॉपर्टी के सभी कागजात मांग सकती है जिसे मालिक को 90 दिनों के अंदर देना होगा । अगर जाँच में कुछ गड़बड़ी पायी गई तो उस पर कड़ी कार्यवाही हो सकती है।

बेनामी सम्पत्ति  लेनदेन सूचनार्थियों पुरस्कार योजना का उदेश्य क्या है

1)  इस योजना का उदेश्य काले धन की खोज करना और कर चोरी को कम करना है |

2) यह योजना लोगों को बेनामी लेनदेन और संपत्तियों (Benami Transaction and Assets) के बारे में आयकर विभाग को जानकारी प्रदान करने  के लिए प्रोत्साहित करेगी।

3) इसके अलावा income टैक्स विभाग , आयकर छुपा निवेशकों और लाभकारी मालिकों द्वारा ऐसी संपत्तियों पर अर्जित आय के बारे में जानकारी प्राप्त करने में सक्षम होगा।

बेनामी सम्पत्ति  लेनदेन सूचनार्थियों पुरस्कार योजना के तहत कितना इनाम मिलेगा ?

कोई भी व्यक्ति आयकर विभाग निदेशालय के जांच निदेशकों में बेनामी निषेध इकाई (Benami Prohibition Unit) के संयुक्त/अतिरिक्त आयुक्तों (जॉइंट या एडिश्नल कमिश्नर) को निर्धारित तरीके से विशिष्ट जानकारी प्रदान करके 1 करोड़ रुपये का इनाम जीत सकते है|

जानकारी देने वाले व्यक्ति का नाम गुप्त रखा जाएगा और इसे सार्वजनिक नहीं किया जाएगा।

अगर उसके द्वारा दी गई जानकारी गलत होगी तो इनामी राशि नहीं दी जाएगी और गलत जानकारी के एवेज में उचित करवाई की जाएगी|

इनकम टैक्स चोरी के मामलों में भी कोई योजना है ?

सरकार ने इनकम टैक्स चोरी के मामलों को उजागर करने के लिए भी 50 लाख रुपए की इनाम योजना का ऐलान किया है। संशोधित आयकर सूचनार्थियों के लिए पुरस्कार योजना के तहत, आईटी अधिनियम ’61 के तहत क्रियान्वित भारत में आय या परिसंपत्तियों पर कर की पर्याप्त चोरी के बारे में आईटी विभाग में जांच निदेशकों के नामित अधिकारियों को निर्धारित तरीके से जानकारी देने के लिए 50 लाख रुपये तक का इनाम प्राप्त हो सकता है।

गुप्त स्थानों पर जमा काले धन के बारे में  जानकारी देने पर कितना इनाम मिलेगा ?

इसके अलावा, कोई भी व्यक्ति स्विस बैंकों जैसे गुप्त स्थानों पर जमा काले धन के बारे में  जानकारी देता  है तो वो 5 करोड़ रुपये तक की राशि जीत सकता है |

बेनामी सम्पत्ति लेनदेन सूचनार्थियों पुरस्कार योजना, 2018 के तहत जानकारी कैसे देवे ?

योजना का विवरण बेनामी लेनदेन सूचनार्थियों पुरस्कार योजना- 2018, बेनामी ट्रांजैक्शंस इन्फर्मेंट्स रिवॉर्ड स्कीम- 2018 में उपलब्ध है, जिसकी प्रति आयकर कार्यालयों में और आयकर विभाग www.incometaxindia.gov.in की आधिकारिक वेबसाइट पर उपलब्ध है।

बेनामी सम्पत्ति पुरस्कार के लिए जानकारी देने के लिए आपको एक फॉर्म fill करना होगा जो इस link पर मिलेगा |

income tax india

निष्कर्ष :–

बेनामी सम्पत्ति योजना , बेनामी सम्पत्ति  लेनदेन सूचनार्थियों पुरस्कार योजना  सरकार का एक सख्त कदम है काले धन और भ्रष्टाचार  के खिलाफ |अगर  आप के पास कोई ऐसे लोगो के बारे में कोई जानकारी हो जो काला धन रखते हो ,income टैक्स की चोरी  करते हो ,बेनामी सम्पत्ति रखते हो तो इसकी सुचना सरकार को दे और इनाम में पाए 1 करोड़ की राशि |योजना के बारे में  कोई भी प्रश्न हो तो कमेंट बॉक्स में कमेंट कर के पूछ सकते है |

अटल न्यू इंडिया चैलेंज -सरकार से 1 करोड़ जीतने का मौका

भामाशाह स्वास्थ्य बीमा -30,000 से 3 लाख तक बीमा

3 Comments on “बेनामी लेनदेन सूचनार्थियों पुरस्कार योजना-मिलेंगे एक करोड़ रु”

  1. I often visit your site and have noticed that you
    don’t update it often. More frequent updates will give your blog higher authority & rank in google.
    I know that writing posts takes a lot of time, but
    you can always help yourself with miftolo’s tools
    which will shorten the time of creating an article
    to a couple of seconds.

  2. Prabha ji maine bahut se post par apna article likha..hu jo internet par pahle se maujood thi lekin maine usme milne vale keyword aur google search result ke keyword ko use kar apni post ko thoda upar laane me safal hot hu..

    Ha lekin. Agar aap internet par pahle se na maujood hone vale content par post likhenge to aapki site ke post jarur search me aayenge..

    Jyadatar keyword ko hinglish me use kare..

    Aur baki jankari ke liye aap mujhse email kar sakte hai thanku.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *