आयुष्मान भारत योजना क्या है? Ayushman Bharat yojna 2018

आयुष्मान भारत, आयुष्मान भारत योजना ,मोदीकेयर ,राष्ट्रीय स्वास्थ्य सुरक्षा मिशन ,ayushman bharat yojna hindi,Ayushman Bharat yojna, Ayushman Bharat,Ayushman Bharat yojna 2018, National Health Protection Mission प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी जब से प्रधानमंत्री पद पर आसीन हुए है तब से वह देश के विकास और देश की जनता के भले के लिए समय समय पर नई नई योजनाए लाते रहते है | इसी परम्परा को आगे बढ़ाते हुए इस साल 2018  के बजट सत्र में वित्त मंत्री अरूण जेटली  ने आयुष्मान भारत योजना( Ayushman Bharat yojna )की घोषणा की। इस योजना का उद्देश्य आर्थिक रूप से कमजोर लोगों (बीपीएल धारक) को स्वास्थ्य बीमा उपलब्ध कराना है और देश को रोग मुक्त बनाना है । इसके अन्तर्गत आने वाले प्रत्येक परिवार को 5 लाख तक का स्वास्थ्य बीमा उपलब्ध कराया जायेगा।  10 करोड़ बीपीएल धारक परिवार इस योजना का प्रत्यक्ष लाभ उठा सकेगें | इस योजना के बारे में और अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए पूरा लेख पढ़ते रहिए |

आयुष्मान भारत योजना क्या है ? ( what is ayushman bharat yojna ?)—-

ayushman bharat yojna

यह योजना दुनिया की सब से बड़ी स्वास्थ्य बिमा योजना है |इसे मोदीकेयर नाम से भी जाना जा रहा है |यह  National Health Protection mission (राष्ट्रीय स्वास्थ्य सुरक्षा मिशन ) है| इस योंजना का मुख्य उदेश्य देश को रोग मुक्त करना है ||इस योजना के अंतर्गत 10 करोड़ परिवार को हर साल 5 लाख रुपए का स्वास्थ्य बीमा मुहैया कराया जाएगा |यह परिवार SECC डाटा बेस पर आधारित गरीब और कमजोर आबादी के होंगे। सरकार ने फिलहाल इस योजना के लिए 2000 करोड़ रुपये का आवंटन करने की बात कही है। इस योजना ने गरीबी रेखा से नीचे के परिवारों के लिए 2008  में पेश राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना का स्थान लिया है जिसमें 30,000 रुपये का सालाना बीमा कवर दिया जाता था |

आयुषमान भारत कार्यक्रम के हिस्से के रूप में सरकार ने स्वास्थ्य क्षेत्र में दो प्रमुख पहल की घोषणा की।वित्त मंत्री ने अरुण जेटली का कहना है कि, आयुषमान भारत कार्यक्रम के तहत इन दो स्वास्थ्य क्षेत्र की पहल एक नए भारत 2022 का निर्माण करेगी|

1).स्वास्थ्य और कल्याण केंद्र: – आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत यह सब से पहली योजना है |इस योजना में निम्नलिखित लाभ होंगे :—

  • इस योजना में 1.5 लाख स्वास्थ्य और कल्याण केंद्र बनाए जाएँगे जिसके तहत स्वास्थ्य देखभाल प्रणाली लोगों के घरों के करीब पहुचेगी ।
  • ये केंद्र गैर-संक्रमणीय बीमारियों और मातृ एवं शिशु स्वास्थ्य सेवाओं सहित व्यापक स्वास्थ्य देखभाल प्रदान करेंगे।
  • सरकार की महत्वाकांक्षी योजना आयुष्मान भारत में आयुर्वेद की अहम भूमिका होगी। देश में खुलने वाले 5 करोड़ आरोग्य केंद्रों में आयुर्वेदिक दवाएं भी उपलब्ध होंगी।
  • आरोग्य केंद्र में आम आदमी को निरोग रहने के लिए देशी चिकित्सा पद्धति अपनाने पर जोर दिया जाएगा। इन केंद्रों में योग के प्रशिक्षण के साथ-साथ युनानी, आयुर्वेद से जुड़ी दवाएं भी मौजूद होंगी।
  • ये केंद्र मुफ्त आवश्यक दवाएं और जाँच सुविधा भी प्रदान करेंगे।
  • सरकार ने इस कार्यक्रम के लिए 1200 करोड़ आवंटित किए हैं।
  • इन केंद्रों को परोपकारी संस्था और निजी क्षेत्र अपनाने के लिए आगे आ सकते है |

2).राष्ट्रीय स्वास्थ्य संरक्षण योजना: – आयुषमान भारत के तहत दूसरा प्रमुख कार्यक्रम राष्ट्रीय स्वास्थ्य संरक्षण योजना है,

  • इस में 10 करोड़ से अधिक गरीब और कमजोर परिवार (लगभग 50 करोड़ लाभार्थियों) शामिल होंगे|
  • प्रति वर्ष 5 लाख रुपये प्रति परिवार को बीमा कवरेज प्रदान किया जाएगा ।
  • यह दुनिया का सबसे बड़ा सरकारी वित्त पोषित स्वास्थ्य देखभाल कार्यक्रम होगा।

आयुष्मान भारत योजना एक नजर में —–

योजना का नाम आयुष्मान भारत योजना ,मोदीकेयर
किसने शुरू की ? प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने
कब शुरू हुई ? 1 अप्रैल 2018
कितने लोगो को फायदा होगा ? देश के 40 % जनता यानी 50 करोड़ लोगो को
कौन लोग पात्र है ? गरीब परिवार जिनका नाम secc 2011 में शामिल हो
योजना का उदेश्य क्या है ? देश को रोग मुक्त बनाना |
कितने का बीमा मिलेगा ? प्रति परिवार 5 लाख का बीमा
बीमा की प्रीमियम राशि कितनी होगी ? हर साल 1100  से  1200 रु प्रीमियम के भरने होंगे |
कौन से अस्पताल में इलाज होगा ? निजी और सरकारी दोनों अस्पतालों में

प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना

अटल पेंशन योजना

आयुष्मान भारत योजना कब शुरू होगी ? (When will the Ayushman Bharat yojna start?)—-

यह योजना नए वित्त वर्ष के आगाज यानी 1 अप्रैल 2018 से लागू होगी। यानी, गरीब परिवारों के लोग 1 अप्रैल से 5 लाख रुपये तक का इलाज मुफ्त में करवा सकेंगे। सरकार ने तेज तर्रार आइएएस अधिकारी डा. दिनेश अरोड़ा को महत्वाकांक्षी आयुष्मान भारतयोजना का निदेशक नियुक्त किया है।

ayushman bharat yojna 2018

आयुष्मान भारत योजना की विशेषताएँ क्या है ? (What are the characteristics of Ayushman Bharat yojna?)—-

1).हर साल मिलेगा 5 लाख रुपए का बीमा ––इस योजना ,राष्ट्रीय स्वास्थ्य सुरक्षा मिशन में प्रति वर्ष प्रति परिवार 5 लाख रुपये का लाभ प्रदान होगा।। लाभ कवर में अस्‍पताल में दाखिल होने से पहले और दाखिल होने के बाद के खर्च शामिल किए जाएंगे। बीमा पॉलिसी के पहले दिन से सभी शर्तों को कवर किया जाएगा। लाभार्थी को हर बार अस्‍पताल में दाखिल होने पर परिवहन भत्‍ते का भी भुगतान किया जाएगा।

2).गरीब परिवार शामिल ग्रामीण क्षेत्रों में ऐसे परिवार स्‍वत: शामिल किये गये हैं जिनके रहने के लिए छत नहीं है,निराश्रित, खैरात पर जीवन यापन करने वाले, मैला ढोने वाले परिवार, आदिम जनजाति समूह, कानूनी रूप से मुक्‍त किए गये बंधुआ मजदूर हैं।

3) परिवार में सदस्य संख्या कितनी भी हो — परिवार में सदस्य संख्या कितनी भी हो सकती है |प्रति परिवार 5 लाख का बीमा कवर दिया जाएगा|बीमा परिवार के सभी सदस्यों के लिए होगा |

4).सरकारी और प्राइवेट दोनों अस्‍पतालों में मिलेगा लाभ—- लाभार्थी सरकारी और निजी दोनों अस्‍पतालों में लाभ ले सकेंगे। इस योजना को लागू करने वाले राज्‍यों के सभी सरकारी अस्‍पतालों को योजना के  पैनल में शामिल समझा जाएगा। कर्मचारी राज्‍य बीमा निगम (ESIC) से जुड़े अस्‍पतालों को भी पैनल में शामिल किया जा सकता है। निजी अस्‍पताल भी पैनल में शामिल किए जाएंगे।

5) पैकेज के आधार पर होगा इलाज — लागत को नियंत्रित करने के लिए पैकेज दर के आधार पर इलाज के लिए भुगतान किया जाएगा। पैकेज दर में इलाज से संबंधित सभी लागत शामिल होंगी। लाभार्थियों के लिए यह कैशलेस और पेपरलेस लेनदेन होगा। राज्‍य विशेष की आवश्‍यकताओं को ध्‍यान में रखते हुए राज्‍यों के पास इन दरों में संशोधन करने का अधिकार होगा |

6) हर राज्‍य में लागू होगी योजना —- इस योजना में राज्‍यों को लचीलापन दिया गया है।  राज्‍य सरकारों को इस योजना के विस्‍तार की अनुमति होगी। योजना को लागू करने के तौर तरीकों को चुनने में राज्‍य स्‍वतंत्र होंगे। राज्‍य बीमा कंपनी के माध्‍यम से या प्रत्‍यक्ष रूप से ट्रस्‍ट/सोसायटी के माध्‍यम से या मिले जुले रूप में योजना लागू कर सकेंगे।

7) राज्‍य स्‍वास्‍थ्‍य एजेंसी लागू करेगी योजना –— योजना को लागू करने के लिए राज्‍यों को राज्‍य स्‍वास्‍थ्‍य एजेंसी (एसएचए) की जरूरत होगी। योजना को लागू करने के लिए राज्‍यों के पास ट्रस्‍ट/सोसायटी/अलाभकारी कंपनी/राज्‍य नोडल एजेंसी के उपयोग करने का विकल्‍प होगा |

8) पेपरलेश और कैशलेस ट्रांजेक्‍शन को मिलेगा बढ़ावा-— नीति आयोग के साथ साझेदारी में एक मजबूत, अन्‍तर संचालन आईटी प्‍लेटफार्म चालू किया जाएगा, जिसमें कागज रहित, कैशलेस लेनदेन होगा। इससे संभावित धोखेबाजी और दुरूपयोग रोकने में मदद मिलेगी। ।

9).सीधे व्‍यक्ति के खाते में ट्रांसफर होंगे पैसे—- यह सुनिश्चित करने के लिए कि धन समय पर पहुंचे केन्‍द्र सरकार की ओर से राज्‍य स्‍वास्‍थ्‍य एजेंसियों को पैसे का ट्रांसफर प्रत्‍यक्ष रूप से निलंब खाते से किया जा सकता है। दिए गए समय सीमा के अन्‍दर राज्‍य को बराबर के हिस्‍से का अनुदान देना होगा।

10) 40% लोग लाभान्वित होंगे — इस योजना से देश की 40 % जनता लाभान्वित होगी |

11) टी .बी  मरीजो को सहायता धनराशि मिलेगी —- टी .बी मरीजो को साल में 6000 रु और महीने में  500 रु सहायता राशि दी जाएगी |

आयुष्मान भारत योजना के लिए कितना प्रीमियम भरना होगा ?(How much will be the premium for Ayushman Bharat yojna? ) —–

इस योजना में हर साल बीमित पारिवार को 1100  रु से  1200 रु प्रीमियम के तौर पर देने होंगे |

आयुष्मान भारत योजना के लिए पात्रता क्या है ? (What is the eligibility for Ayushman Bharat yojna?)—-

1).गरीब परिवार ––– ऐसा परिवार जो बहुत गरीब है जो न तो कोई  स्वास्थ्य बीमा करा सकता है ना ही बीमारी का इलाजं करा सकता है |जिसके पास रहने के लिए घर भी नही हो ऐसा परिवार इस योजन के तहत अपने परिवार वालो के लिए बिमारी का इलाज करने के लिए सरकारी मदद प्राप्त कर सकता है |

2) SECC 2011 में नाम शामिल हो —- इस योजना में वही लोग शामिल हो सकते है जिनके नाम secc 2011 की लिस्ट में हो |

3) आधार कार्ड होना जरूरी है –— इस योजना के लिए आधार card का होना जरूरी है |

SECC-2011 क्या है ?

इसका पूरा नाम socio economi cast sensus  है |इसको 2011 में तात्कालिक प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह जी ने अप्रूवल दिया था |इस data के जरिए भारत के सभी राज्यों में कितने लोग गरीबी की रेखा के नीचे रह रहे है इसकी गणना की गई |इस लिस्ट में उन सभी लोगो के नाम शामिल है जो गरीबी की रेखा के नीचे आते है |

SECC-2011 लिस्ट में अपना नाम देखेने के लिए click करे

इस link पर click करने पर जो page खुलेगा उसमे आप आने राज्य का नाम ,जिले का नाम ,तहसील का नाम और ग्राम पंचायत का नाम डाल कर सबमिट बटन पर click कर दे |फिर जो लिस्ट आपके सामने आएगी उसमे आपना नाम देखे |

आयुष्मान भारत योजना के लिए कौन कौन से दस्तावेज जरूरी है ?( Which documents are necessary for Ayushman Bharat yojna ?)—-

1). बैंक में एकाउंट  होना चाहिए | जो आधार कार्ड से link होना चाहिए |

2) आधार कार्ड  होना चाहिए |

3) पहचान पत्र , परिवार  प्रमाण पत्र ,आय प्रमाण पत्र ,आयु प्रमाण पत्र

 अस्पताल जाकर व्यक्ति को  क्या करना होगा?—–

मरीज को अस्पताल में भर्ती होने के बाद अपने बीमा दस्तावेज देने होंगे जिसके आधार पर अस्पताल इलाज के खर्च के बारे में बीमा कंपनी को सूचित कर देगा और बीमित व्यक्ति के दस्तावेजों की पुष्टि होते ही इलाज बिना पैसे दिये हो सकेगा | निजी और सरकारी दोनों अस्पतालों में यही प्रक्रिया होगी |

योजना के लिए रजिस्ट्रेशन कैसे करे ?

अभी इस योजना में रजिस्टर होने के लिए कोई निर्देश नही दिए गये है | क्यों की ये योजना अभी लॉच हुई है |जैसे ही कोई निर्देश आते है सरकारी साईट पर आपको इसकी जानकारी मिल जाएगी | या फिर हम update कर देंगे |

अधिक जानकारी आप गवर्मेंट की इस साईट पर जाकर  प्राप्त कर सकते है https://www.india.gov.in/

आयुष्मान भारत ,आयुष्मान भारत योजना ,मोदीकेयर ,राष्ट्रीय स्वास्थ्य सुरक्षा मिशन ,ayushman bharat yojna hindi ,Ayushman Bharat yojna,Ayushman Bharat,national health protection mission  सरकार की एक बहुत ही अच्छी योजना है |अगर आपके आसपास कोई गरीब परिवार रहता हो तो आप उसे इस योजना से जरुर अवगत करे ताकि वो इस योजना का लाभ उठा सके |ऐसा कर के आप न केवल किसी गरीब की मदद करेंगे साथ ही देश को रोग मुक्त करने में सरकार की भी सहायता करेंगे |

प्रधानमंत्री आवास योजना

राष्ट्रीय बचत पत्र (NSC) क्या है ? इसे कैसे खरीदे ?

प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना

प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *