अटल न्यू इंडिया चैलेंज -सरकार से 1 करोड़ जीतने का मौका

न्यू इंडिया चैलेंज ,अटल न्यू इंडिया चैलेंज ,new india challenge ,atal new india challenge ,नरेन्द्र मोदी जी की सरकार हमेशा नई नई योजनाए देश और जनता के स्तर को सुधारने के लिए लाती रही है |इसी कड़ी को आगे बढ़ाते  हुए सरकार लाई है एक योजना जिसका नाम है अटल न्यू इंडिया चैलेंज (Atal new india challenge)|इस चैलेंज में आपको मौका मिल रहा है पुरे एक करोड रु जीतने का मौका  |बस आपके पास कोई एक ऐसा नया आईडिया होना चाहिए जिस से आप जनता की किसी समस्या को समाप्त करने में सरकार की मदद कर सके |तो जानिये इस योजना के बारे में पूरी जानकारी कैसे आप करोडपति बन सकते है वो भी बस एक नये विचार के साथ |

अटल न्यू इंडिया चैलेंज (Atal new india challenge)क्या है ?

atal new india challenge

नीति आयोग ने अटल इनोवेशन मिशन (AIM) के तहत एक योजना को तैयार किया है जिस का नाम है अटल न्यू इंडिया चैलेंज |यह योजना इनोवेशन और टेक्नोलॉजी से जुडी हुई है इस योजना में वो लोग शामिल हो सकते है जो अपने इनोवेशन यानी नये विचारो और टेक्नोलॉजी से ,जनता की समस्याओ को समाप्त करने में और देश के विकास में  सरकार की मदद कर सकते है |इसके लिए सरकार ऐसे व्यक्ति को एक करोड़ रु की राशि देगी |

विचार ऐसा होना चाहिए जो :—-

  • राष्ट्रीय और सामाजिक कारणों (उत्पादकता) के लिए प्रासंगिक मौजूदा प्रौद्योगिकियों से उत्पादों को बनाने में मदद करें;
  • भारत के संदर्भ में बाजारों और शुरुआती ग्राहकों (व्यावसायीकरण) को खोजने के लिए नए गहरे तकनीकी उत्पादों की सहायता करें।

अटल न्यू इंडिया चैलेंज  (Atal new india challenge)24 फोकस क्षेत्रों (जिनके नाम लेख में आगे दिए गये है )  में अत्याधुनिक प्रौद्योगिकियों के आधार पर बाजार में  तैयार उत्पादों को डिजाइन और प्रदर्शित करने के लिए एक खुली कॉल है। प्रौद्योगिकियों को उत्पादित करने में सक्षम होने के लिए क्षमता, इरादा और वादा दिखाने वाले आवेदकों को 1 करोड़ तक अनुदान दिया जाएगा।

योजना एक नजर में ——-

योजना का नाम अटल न्यू इंडिया चैलेंज
कब शुरू की गई ? 26 अप्रैल 2018
किसने शुरू की योजना ? नीति योग द्वारा
अंतिम तिथि आवेदन कब है ? पहले 10 जून थी अब 31st जुलाई है
कितनी राशि अनुदान में मिलेगी ? एक करोड रु
योजना का उदेश्य क्या है ? नवाचार को प्रोत्साहित करना।
किस मिशन के तहत यह योजना शुरू की गई है ? अटल इनोवेशन मिशन (AIM)
कितने मंत्रालय काम कर रहे है इस योजना में ?   5
कितने फोकस क्षेत्र  है योजना में ? 24
कौन आवेदन कर सकते है ? 1)  MSME  2)   स्टार्टअप। 3)   सरकारी या निजी अनुसंधान एवं विकास संगठन  4)  व्यक्तिगत नवप्रवर्तनकों 

आयुष्मान भारत योजना क्या है?

प्रधानमंत्री आवास योजना

 

अटल न्यू इंडिया चैलेंज कब शुरू की गई ?

यह योजना 26 अप्रैल 2018 को शुरू की गई |

अटल न्यू इंडिया चैलेंज के आवेदन की  last date क्या है ?

पहले इसकी date 10 जून थी लेकिन अब 31st  july 2018 कर दी गई |

अटल न्यू इंडिया चैलेंज का उदेश्य क्या है ?

अटल इनोवेशन मिशन का  लक्ष्य है भारत के विकास के लिए महत्वपूर्ण क्षेत्रों जैसे स्वास्थ्य, आवास, स्वच्छता, ऊर्जा और पानी में आदि में  नवाचार को प्रोत्साहित करना।

अटल न्यू इंडिया चैलेंज में कौन लोग आवेदन कर सकते है ?

  • कोई भी ऐसी भारतीय company जो कंपनी अधिनियम 1956/2013 के तहत मुख्य रूप से एक माइक्रो, लघु और मध्यम उद्यम (MSME) जैसा कि MSMED अधिनियम, 2006 में परिभाषित किया गया है,शामिल हो सकती है |
  • औद्योगिक नीति संवर्धन विभाग (डीआईपीपी), वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा परिभाषित और मान्यता प्राप्त स्टार्टअप।
  • सरकारी या निजी अनुसंधान एवं विकास संगठन (रेलवे R&D संगठन के अलावा), अकादमिक संस्थानों, शिक्षाविद भी शामिल हो सकते है |
  • व्यक्तिगत नवप्रवर्तनकों भी आवेदन कर सकता है बशर्ते वे उपयुक्त विनिर्माण क्षमताओं वाली संस्थाओं से साझेदारी करें।

अटल न्यू इंडिया चैलेंज के लिए क्या मानदंड होंने  चाहिए ?

इस योजना के लिए आवेदन निम्नलिखित मानदंडों को पूरा करने वाला होना चाहिए:—–

  1. नवप्रवर्तनक (इनोवेटर्स) मौजूदा पेटेंट (या प्रकाशित शोध पत्र) या उत्पाद या प्रौद्योगिकी का व्यावसायीकरण कर रहा हो |

इस के लिए नवप्रवर्तनक को चाहिए :—-

  • की वो इस योजना की घोषणा की तारीख से पहले एक प्रतिष्ठित पत्रिका में प्रकाशित शोध पत्र को सबमिट या प्रदान करें, या
  • पेटेंट का विवरण, नाम और संख्या सबमिट करे |
  • यदि नवप्रवर्तनकर्ता / शोधकर्ता पेटेंट धारक नहीं है, तो आवेदन में पेटेंट धारक के साथ उसके संबंधों की जानकारी शामिल होनी       चाहिए, जैसे लाइसेंस शुल्क या व्यापार योजना में लाभ / राजस्व हिस्सेदारी आदि।
  • एक वीडियो जो प्रोटोटाइप का वर्णन दिखाने वाला हो |

2)नवप्रवर्तनक ने विनिर्माण, बाजार परिनियोजन के लिए जिन  भागीदारों के साथ भागीदारी की है। उनके नाम और अन्य विवरण प्रदान करना होगा।

अनुदान कैसे दिया जाएगा?

अनुदान 12 से 18 महीने के भीतर अधिकतम तीन (3) किश्तों में दिया जाएगा—–

पहली किश्त: समिति द्वारा अनुशंसित राशि का 30% तक।

दूसरी किश्त: राशि का 50% तक,

तीसरी और अंतिम किश्त (यदि आवश्यक हो): अनुशंसित अनुदान की शेष राशि

 

मुख्यमंत्री राजश्री योजना -अब 50,000 की राशि हर बेटी को

मेक इन इंडिया(make in india ) क्या है ?

अटल न्यू इंडिया चैलेंज में कितने मंत्रालय काम करेंगे ?

इस योजना में 5 मंत्रालय काम करेंगे —

1) कृषि और किसान कल्याण मंत्रालय                  (Ministry of Agriculture and Farmer’s Welfare)

2) रेल मंत्रालय                                                          (Ministry of Railways)

3) सड़क, परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय              (Ministry of Road,Transport and Highways)

4) पेयजल और स्वच्छता मंत्रालय                          (Ministry of Drinking Water and Sanitation )

5) आवास और शहरी मामलों के मंत्रालय              (Ministry of Housing and Urban Affairs)

atal new india challenge

अटल न्यू इंडिया चैलेंज के लिए फोकस क्षेत्र  कौन कौन से है ?

अटल न्यू इंडिया चैलेंज के वर्तमान दौर में, निम्नलिखित पहले 17 थे पर अब 24 फोकस क्षेत्रों में से हर एक में उत्पादों और प्रौद्योगिकियों के व्यावसायीकरण की मांग करने वाले आवेदकों को अपना प्रस्ताव जमा करने के लिए आमंत्रित किया जाता है:—–

            क्षेत्र तकनीकी का निर्माण जो किया जाएगा 
1 जलवायु स्मार्ट कृषि

Climate :smart agriculture

जलवायु-लचीला कृषि प्रथाओं, प्रजातियों और प्रक्रियाओं को बढ़ावा देने और व्यावसायीकरण के लिए उत्पादों, प्रौद्योगिकियों और प्रक्रियाओं (आपूर्ति श्रृंखला) को तैनात करना |
2 सड़क और रेल के लिए धुंध दृष्टि प्रणालीFog vision system for road and rail कम दृश्यता स्थितियों में दुर्घटनाओं को कम करने के लिए प्रौद्योगिकियों की तैनाती करना |
3 रेल विफलता को  पहचानने के लिए सिस्टमSystem to predict ,identify and recognize rail failure using technologies रेल विफलताओं की भविष्यवाणी और रोकथाम के लिए उन्नत प्रौद्योगिकी समाधान ।
4 रोलिंग स्टॉक की पूर्वानुमानित रखरखावPredictiveMaintenance of Rolling Stock कोच, फ्रेट कार, लोकोमोटिव के प्रमुख घटकों के स्वास्थ्य और सुरक्षा की निगरानी करने के लिए समाधान |
5 वैकल्पिक ईंधन आधारित परिवहनAlternate fuel based Transportation कार्बन उत्सर्जन को कम करने के लिए बिजली के वैकल्पिक स्रोत का उपयोग करके परिवहन में प्रौद्योगिकियों / उत्पादों की तैनाती करना
6 स्मार्ट गतिशीलता Smart Mobility नए शहरीकरण क्षेत्रों / स्मार्ट शहरों के लिए वैकल्पिक परिवहन तंत्र का उपयोग
7 इलेक्ट्रिक गतिशीलताElectric Mobility परिवहन के सभी साधनों में विद्युत वाहनों के हिस्से को बढ़ाने के लिए तकनीक / नवाचार
8 सुरक्षित परिवहनSafe Transport दुर्घटनाओं और घातकताओं को कम करने के लिए प्रौद्योगिकियों / नवाचारों पर विशेष ध्यान देना
9 तत्काल पोर्टेबल जल गुणवत्ता परीक्षणInstant Portable Water Quality Testing

 

किसी दिए गए जल नमूने में रासायनिक प्रदूषण की एकाग्रता की पहचान करने के लिए सिस्टम, उत्पाद, प्रौद्योगिकियों या प्रोटोकॉल विकसित करना
10 पीने के पानी के स्रोतों को बनाए रखनाSustaining drinking water sources पीने के पानी की स्थिरता सुनिश्चित करना, स्रोतों को बनाए रखना
11 डिजिटल जल प्रबंधनDigital water Management घर के पारिवारिक जल बजट की योजना बनाने के लिए अपने निकटतम स्रोत से उपलब्ध पानी की मात्रा और गुणवत्ता के बारे में सूचित करके हर घर को एक पानी स्मार्ट घर बनाना |
12 पानी की गुणवत्ता प्रभावित क्षेत्रों को पीने योग्य पानी प्रदान करनाProviding potable water to water quality affected areas बड़ी संख्या में आवासों में भूजल गुणवत्ता के मुद्दों का समाधान करना |

 

13 जल प्रशासन के लिए डेटा विश्लेषिकीData analytics for water governance बड़ी डेटा एनालिटिक्स तकनीकों का उपयोग करना, उपरोक्त डेटाबेस का उपयोग करके जिला / राज्य स्तर पर गुणवत्ता की जानकारी उत्पन्न करना , जो प्रभावी जल शिक्षा और प्रशासन और प्रबंधन के लिए नीति तैयार करने में सहायता करे|
14 तटीय क्षेत्रों में मिनी विलवणीकरण संयंत्रMini desalination plants in coastal areas तटीय आवासों के लिए मिनी विलवणीकरण संयंत्रों की स्थापना और संचालन के लिए उपलब्ध कम लागत, पर्यावरण अनुकूल, कम बिजली प्रौद्योगिकियां।
15 ग्रे जल प्रबंधनGrey water management ग्रामीण इलाकों में भूरे पानी का प्रबंधन करने के लिए अभिनव, कम लागत और सरल प्रौद्योगिकियों के लिए सुझाव आमंत्रित किए जाते हैं।
16 वहनीय डिसेलिनेशन रीसाइक्लिंग प्रौद्योगिकीAffordable Desalination/Recycling Technology वहनीय रीसाइक्लिंग तकनीक – घरेलू और सामुदायिक स्तर पर पानी रीसाइकिल करने के लिए प्रौद्योगिकियों या उत्पादों को तैनात करना ।
17 अपशिष्ट प्रबंधन रीसाइक्लिंग और पुन: उपयोग करेंWaste management recycling and reuse अपशिष्ट प्रबंधन के लिए प्रौद्योगिकियों की तैनाती, उदा। ठोस, ई-अपशिष्ट आदि
18 कचरा संरचना उपकरणGarbage composition devices पोर्टेबल / हैंडहेल्ड स्कैनर / डिवाइस ,जो घरों से एकत्रित कचरे की संरचना को गीले या सूखे के रूप में अलग कर सकता है|
19   खाद की गुणवत्ताQuality of compost पोर्टेबल / हैंडहेल्ड डिवाइस जो कंपोस्ट की गुणवत्ता को जल्दी से निर्धारित कर सकता है (भले ही कंपोस्ट ढेर एफसीओ मानकों को पूरा करता हो|
20 विकेंद्रीकृत कंपोस्टिंगDecentralized composting विकेंद्रीकृत कंपोस्टिंग के लिए आर्थिक, कुशल, मॉड्यूलर, सौंदर्य, पर्यावरण अनुकूल और न्यूनतम अंतरिक्ष व्यवस्था / उपकरण / पौधों पर कब्जा करना जो एरोबिक / एनारोबिक / वर्मी हो सकता है
21 कंपोस्टिंग के लिए मिश्रण ब्लेडMixing blades for composting छोटे पैमाने / घरेलू कंपोस्टिंग सामग्री के लिए कुशल मिश्रण ब्लेड बनाना |
22 सार्वजनिक स्थानों में अपशिष्टWaste in public spaces संकीर्ण सड़कों सहित सार्वजनिक स्थानों में भरे हुए अपशिष्ट को व्यापक और चूसने के कुशल, सरल और किफायती तरीके |
23 सार्वजनिक कचरे को दूर करनाDissuading public littering लोगों को कूड़ेदान की पहचान करने के लिए कुशल, सरल और किफायती तरीके, अलार्म उठाना ताकि जनता को कूड़ेदान से दूर कर सकें|
24 सीवर सेप्टिक टैंक की सफाईCleaning of Sewers Septic Tanks मानव प्रविष्टि की आवश्यकता को खत्म करने के उद्देश्य से स्मार्ट और कुशल सफाई तकनीक|

अटल न्यू इंडिया चैलेंज के लिए आवेदन कैसे करे ?

इस योजना के लिए आवेदन ऑनलाइन करने होगा जिसके  लिए आप इस link पर click करे

http://aim.gov.in/atal-new-india-challenge.php

1  )  इस लिंक  पर click करने पर आपके सामने इस योजना की official site खुल जाएगी |यहाँ apply now पर click करने पर आपके सामने एक फॉर्म open हो जाएग

2)  आप उसमे अपनी और अपने व्यसाय की सारी जानकारी भर दे |

3) जानकारी भरने और सभी आवश्यक दस्तावेज अपलोड करने के बाद सबमिट पर click कर दे |

4) अब आपका फॉर्म इस योजना में सबमिट हो जाएगा |

निष्कर्ष :–

न्यू इंडिया चैलेंज ,अटल न्यू इंडिया चैलेंज ,new india challenge ,atal new india challengeअटल न्यू इंडिया चैलेंज  (Atal new india challenge)योजना नीति आयोग की बहुत ही अच्छी योजना है इस में इन्होने देश के इनोवेटर्स को आमंत्रित किया है की वो आगे आये और ऐसी टेक्निक्स लाये जिस से देश की 24 फोकस क्षेत्रों की समस्याओं का समाधान किया जा सके |तो दोस्तों अगर आपके पास है ऐसी कोई नई प्रौद्योगिकी तो करो आवेदन और जीत लो एक करोड़ रु |इस योजना के बारे में कोई भी प्रश्न हो तो कमेंट box में कमेंट कर के पूछ सकते है |

स्टैंड अप इंडिया योजना

भामाशाह स्वास्थ्य बीमा -30,000 से 3 लाख तक बीमा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *